गेहू के जवारे का रस है चमत्कारी

गेहू के जवारे का रस इन दिनों खूब पसंद किया जा रहा है ,इस के रस का उपयोग कई कारणों से किया जाता है,इसे जीवन रक्षक भी कहा जाता है यह एक संजीवनी के रूप में उपयोग में आती है .

इसके रस में है ये प्रचुर मात्रा मै-

गेहू के जवारे के रस में पोष्टिक तत्व अपने सघन रूप में विद्यमान रहते है ,इसमें आयरन ,कैल्शियम ,मैग्नेशियम ,एमिनो एसिड्स ,क्लोरोफिल ,विटामिन ए ,और विटामिन सी और इ की भरपूर मात्र होती है |प्राकृतिक चिकित्सकों का मानना है की इससे रोग प्रतिरोधक शक्ति बढती है और कई घातक बैक्टेरिया नष्ट हो जाते है ,शरीर के विषेले तत्वों से छुटकारा मिलता है ,इसे केंसर के ट्रीटमेंट तथा कीमोथेरपी के साईड इफेक्ट से निपटने के लिए भी प्रयोग की सलाह दी जाती है .इसके उपयोग से एनीमिया दूर होता है डायबिटीज ,जोड़ो का दर्द भी दूर होता है .

ये सभी के लिए उपयोगी है या नहीं-

गेहू के जवारे के रस को आम तौर पर सुरक्षित माना जाता है क्योकि यह गेहू से उगाया जाता है कुछ मरीजो को इसे लेने से मितली आती है अथवा कब्ज हो सकती है ,क्योकि इसको मिटटी में उगाया जाता है तो बैक्टेरिया पनप सकते है महिलाये यदि गर्भवती हो तो इसका उपयोग ना करे .

पूरी निर्भरता इसपे सही नहीं है-

अगर आप किसी बीमारी से ग्रसित है और आपको किसी ने इसके उपयोग की सलाह दी है की इससे आपकी बीमारी ठीक हो जायेगी ,तो आप अपने चल रहे इलाज को बंद न करे इसका उपयोग जरुर करे पर साथ ही अपना इलाज भी चलें दे पूरी तरह इस पर निर्भर न रहे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *