तेजपत्ता बड़े काम का

रसोई में तेज पत्ता अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है |पेट में कीड़े पड़ने या मरोड़ उठने पर तेजपत्ते का काढ़ा पीने से आराम मिलता है काढ़ा बनाने के लिए 2 कप पानी में दो तेजपत्ता और एक चुटकी हिंग डालकर आधा रह जाने तक उबाले |छान कर पी ले |

ओषधिय गुण-

सिरदर्द में तेजपत्ता अपना जादू दिखाता है ,तेजपत्ता के चूर्ण को  पानी में मिलाकर माथे पर लेप लगाने से आराम मिलता है .

दांत में कीड़ा लगने या पीलापन होने पर इसके चूर्ण को मंजन की तरह दिन में दो बार दो मिनट करे |

बड़े काम का है ये पत्ता-

पुलाव ,मलाई कोफ्ता ,पनीर की सब्जी ,आदि या कहा जाये तो रसोई इसके बिना अधूरे है .

पाचन शक्ति बढाता है-

तेजपत्ता पाचन शक्ति बढाता है ,इसका नियमित सेवन करना लाभकारी होता है .

तेजपत्ते की मालिश से जोड़ो में दर्द बन हो जाता है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *